Romantic Shayari 9

आपके ख्यालों से फुर्सत नहीं मिलती,
हमको एक पल की राहत नहीं मिलती,
मिल तो जाता है सब कुछ यहाँ,
बस आपकी एक यादगार जलक नहीं मिलती...
जब नाराज़ होती हो मेरी जान तुम कभी मुझसे,
मैं हँसना भूल जाता हूँ मुझे आंसू नहीं आते,
मगर,
आँखों के गोशों में नमी महसूस होती है,
मुझे हर चीज़ में जाना कमी महसूस होती है...
कुछ इस तरह से वो मुस्कुराते हैं,
की परेशान लोग उन्हें देख खुश हो जाते हैं,
उनकी बातों का अजी क्या कहिये,
अलफ़ाज़ फूल बनकर होंठों से निकल आते हैं...
नयनों से नैन मिलाकर, मोहब्बत का इज़हार करूँ,
बनकर ओस की बुँदें, ज़िन्दगी तेरी गुलजार करूँ,
संवर जाएगी तेरी मेरी ज़िन्दगी, इश्क के सफ़र में,
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे पे ऐतबार करूँ...
मेरे चहरे की हंसी हो तुम,
मेरे दिल की हर ख़ुशी हो तुम,
मेरे होंठों की मुस्कान हो तुम,
धड़कता है मेरा ये दिल जिसके लिए,
वो मेरी जान सिर्फ, तुम हो तुम...
इजाज़त दे दो प्यार करने को ए-सनम,
मैं तुम्हें गले लगाना चाहता हूँ,
बाहों में आ जाओ ए-सनम,
मैं तुम्हें अपना बनाना चाहता हूँ...
किसी के पैगाम को ज़रा प्यार से पढ़ा कीजिए,
किसी की चाहत का एहसास किया कीजिए,
कोई दिल से याद करता है आपको,
कम से कम हिचकियाँ तो लिया कीजिए...
आरजू होगी हज़ारों को तुम्हारी,
चाहने वाला हमसा दिखाओ तो सही,
बुझा सके ना जिन्हें जमाने की आंधियां,
तेरी याद में ऐसे चिराग जलाते हैं हम...
तेरी मौजूदगी अब हर जगह मालूम होती है,
मुझे हर शाम जीवन की सुभाई होती है,
जब से देखा है तुझको मैंने अपने दिल की नज़रों से,
मुझे तो अब हर शक्ल अब तेरी तरह मालूम होती है...
हसीन पलों को याद कर रहे थे,
सितारों से आपकी बात कर रहे थे,
दिल को बड़ा सुकून मिला ये जान कर की,
आप भी मुझे याद कर रहे थे...