Romantic Shayari 13

मेरी मांगी हुई मन्नत हो तुम,
मेरे चेहरे की चमक हो तुम,
मेरी ज़िन्दगी की सबसे अनमोल चीज़,
या यूँ कहूँ मेरा सारा जहाँ हो तुम...
आज मेरा हर एक पल खूबसूरत है,
दिल में सिर्फ तेरी ही सूरत है,
कुछ भी कहे ये दुनिया ग़म नहीं,
दुनिया से ज्यादा हमें तेरी ज़रूरत है...
हर दिल फरियाद नहीं करता,
हर कोई किसी को याद नहीं करता,
भूल जाएं तुम्हें एक पल के लिए भी,
इस बात पर दिल ऐतबार नहीं करता...
तुम एक खूबसूरत गुलाब जैसी हो,
बहुत नाज़ुक हो एक सपना जैसी,
होठों से छूकर पी जाऊँ तुम्हें,
सर से पाँव तक एक शराब जैसी हो...
मोहब्बत से अपनी सवारूँ तुझे,
बाहों में लेकर दिल में उतारू तुझे,
बसा के तुझे अपनी आँखों में,
इश्क अपना बना लूं तुझे...
खुद को आज तेरी बाहों में हम समा लेंगे,
अपनी रूह को तेरे जिस्म में बसा लेंगे,

नजदीकियां होंगी तेरे-मेरे बीच,
और चूम के तेरे होठों को, बेकरारी हम बड़ा लेंगे,

फिर करेंगे महसूस आज प्यार को हम,
तुम्हें अपनी जान बना लेंगे...
बाहों में छुपा के रखूं तुझको,
सीने से लगा के रखूं तुझको,

आओ तुम ख्वाबों में मेरे,
और मैं ख्वाबों में सजा के रखूं तुझको,

जो होती है ना कभी खत्म मोहब्बत,
वैसी मोहब्बत अपनी बना के रखूं तुझको...
तुमसे कितनी मोहब्बत है ये मैं बता नहीं सकता,
अपनी ज़िन्दगी में तुम्हारी अहमियत जता नहीं सकता,

मेरी ज़िन्दगी का हर लम्हा तुम्ही से शुरू होता है,
तुमसे दूर रहके एक पल भी अकेले बिता नहीं सकता,

मुमकिन है मैं खुद को भूल जाऊँ,
पर तुम्हें भुलाने की खता मैं कर नहीं सकता,

तुम मेरे दिल मैं ही नहीं मेरे रग-रग में बसे हो,
तुमसे बिछड़ के मैं ये ज़िन्दगी जी नहीं सकता...
सदियों से एक सपना है, कहो पूरा करोगे तुम,
भूल जाओ मेरे सिवा सब कुछ, कहो ऐसा करोगे तुम,

नहीं कुछ और तमन्ना अब, बस मेरे हो जाओ तुम,
कभी ना छोड़ के जाओगे, कहो ऐसा करोगे तुम,

फ़क़त एक लफ्ज़ सुनने को, कई बरसों से तरसा हूँ,
मुझे अपना बना लो, कहो ऐसा करोगे तुम...
मुझे तुमसे मोहब्बत हो गई है,
ये दुनिया खूबसूरत हो गई है,
ख़ुदा से रोज़, तुम्हें मांगती हूँ,
मेरी चाहत, मेरी इबादत हो गई है...