Romantic Shayari 12

होकर तेरे प्यार में शामिल,
हमने खुद को इस तरह पहचाना,

तुमने समझा जो अपना मुझको,
ना रहा ये जमाना बेगाना,

साहिल बनकर तुमने इस ज़िन्दगी को,
दिया वो अनमोल नजराना,

चाँद को छूने की हिम्मत आ गई,
आ गया खुद से नज़रें मिलाना...
आप जब सामने से गुज़र जाते हैं,
अरमान दिल के सारे उभर आते हैं,
देखकर आपकी प्यारी सूरत,
सहमे हुए से फूल भी मुस्कुरा जाते हैं...
जादू है तेरी हर एक बात में,
याद बहुत आते हो दिन और रात में,
कल जब देखा था मैंने सपना रात में,
तब भी आपका ही हाथ था मेरे हाथ में...
पलकों से रास्ते के काटें हटा देंगे,
फूल तो क्या हम अपना दिल बिछा देंगे,
टूटने ना देंगे हम इस प्यार को कभी,
बदले में हम खुद को मिटा देंगे...
तुम्हें चाहता है क्यों इतना ये दिल,
की अब दिल पे बस ना चले,

बहुत दिन से इस दिल की ज़िद है सनम,
तुम्हें हम लगा लें गले,

तुमसे मिलने की अब तो चाहत है,
तुम क्या जानो दिल की क्या हालत है...
जबसे देखा है नज़रों ने आपको,
इनको और कुछ भी नज़र नहीं आता,
ना जाने कैसा किया है जादू आपने,
कोई और चेहरा इसको नहीं भाता...
नफ़रत भी है तुमसे मोहब्बत भी है तुमसे,
पर मेरी मोहब्बत नफ़रत पे हावी हो जाती है,
तुमसे दूर जाने की मेरी हर मुकम्मल कोशिश,
मुझे जाने क्यों तेरे और करीब ले आती है...
प्यार की वारदात होने दो,
कुछ तो ऐसे हालात होने दो,
लफ्ज़ अगर बात नहीं कर सकते,
तो आँखों की आँखों में बात होने दो...
एक दिन आएगा क़यामत होगी,
तुझे बाहों में भर लेंगे अगर इजाज़त होगी,
जब-जब नज़र आएगी मेरी शायरी,
हर पल तुझे मुझसे मोहब्बत होगी...
खुशबू की तरह आपके पास बिखर जाऊँगा,
सुकून बनकर दिल में उतर जाऊँगा,
महसूस करने की कोशिश कीजिए,
दूर होकर भी पास नज़र आऊंगा...