Romantic Shayari 10

जो बनी हो मेरे लिए,
जिसके लिए मैं जी रहा हूँ,

जो कहे हम साथ हैं तेरे,
जिसे देखने के लिए तड़प रहा हूँ,

एक ऐसा ही दिलदार चाहिए,
बस मुझे मेरा प्यार चाहिए...
मेरा दिल है जब तक, तेरी जुस्तजू है,
मेरी ज़ुबान जब तक, तेरी गुफ्तगू है,
ख़ुदा जाने क्या होगा अंजाम मेरा,
जहाँ देखता हूँ तू ही तू रूबरू है...
आँखों में जो नूर ना होता,
तन्हा दिल मजबूर ना होता,
हम आपको खुद गुड-नाइट कहने आते,
अगर आपका आशियाना हमसे दूर ना होता...
अपने होठों पर सजाकर तुझे मैं,
तेरे ही गीत गाना चाहता हूँ,
जलकर बुझ जाना हमारी किस्मत सही,
बस एक बार रोशन होना चाहता हूँ...
तेरी यादों के बिखरे टुकड़े चुनकर,
गुज़रे लम्हों की तस्वीर बना लूँ,
अपनी हर ख़ुशी तेरे नाम लिख के,
तेरे दुखों को अपनी तकदीर बना लूँ...
मुझको फिर वही सुहाना नज़ारा मिल गया,
नज़रों को जो दीदार तुम्हारा मिल गया,
और किसी चीज़ की तमन्ना क्यों करूँ,
जब मुझे तेरी बाहों में सहारा मिल गया...
कहीं खो ना जाए ज़िन्दगी,
मुझको तू इसको जी लेने दे,
तेरी अदा तेरी सदा जैसे है एक जाम,
ये मोहब्बत मुझे पी लेने दे...
हर पल की ख़ुशी आपकी याद में है,
हमारी हर दुआ आपके साथ में है,
दूर रहकर भी आपको याद करते हैं,
ज़रूर कोई प्यारी सी अदा आप में है...
इज़हार-ए-मोहब्बत की हमने, आपने हम पर ऐतबार किया,
सूनी पड़ी बेमतलब ज़िन्दगी को, आपने एक आयाम दिया,
यूँ लगा एक पल में हमने सारे जहाँ को पा लिया,
अपनी ज़िन्दगी का हर लम्हा आज से आपके नाम किया...
साथ तेरा है तो सब कुछ है,
बिन तेरे ये सब, कुछ भी नहीं है,
तू मेरे साथ तो ये जहाँ हमारा है,
बिन तेरे ये ज़िन्दगी ये जहाँ मुझे नहीं प्यारा है...