Shayari

मुस्कान तेरे होठों से कहीं जाए न,
आँसू तेरी पलकों पे कहीं आए न,
पूरा हो तेरा हर ख़्वाब,
और जो पूरा न हो वो ख़्वाब कभी आए न...