Risten Shayari 3

कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,
कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,
रिश्ते तो मिलते हैं मुक़द्दर से,
बस उसे ख़ूबसूरती से निभाना सीखो...
खूबसूरत सा एक पल किस्सा बन जाता है,
जाने कब कौन ज़िन्दगी का हिस्सा बन जाता है,
कुछ लोग ज़िन्दगी में मिलते हैं ऐसे,
जिनसे कभी ना टूटने वाला रिश्ता बन जाता है...
पल-पल के रिश्ते का वादा है आपसे,
अपना पन कुछ ज्यादा है आपसे,
ना सोचना की भूल गए हम आपको,
ज़िन्दगी भर चाहेंगे ये वादा है आपसे...
कुछ रिश्ते इस जहाँ में ख़ास होते हैं,
हवा के रुख से जिनके एहसास होते हैं,
ये दिल की कशिश नहीं तो और क्या है दोस्तों,
दूर रह कर भी वो दिल के कितने पास होते हैं...
नींद अपनी भुला के सुलाया हमको,
आंसू अपने गिरा के हसाया हमको,
दर्द कभी ना देना उन हस्तियों को,
अल्लाह ने माँ-बाप बनाया जिनको...
कुछ रिश्ते ऊपर बनते हैं,
कुछ रिश्ते लोग बनाते हैं,
वो लोग बहुत ख़ास होते हैं,
जो बिना रिश्ते, रिश्ता निभाते हैं...
वो दिल नहीं रहे, वो जज्बे नहीं रहे,
अपने भी इस दौर में अपने नहीं रहे,
हालात-ए-ज़िन्दगी पर गौर किया तो पाया,
रिश्ते जुबां के रहे, दिल के नहीं रहे...
ना छुपाना कोई बात दिल में हो अगर,
रखना थोड़ा भरोसा तुम हम पर,
हम निभाएंगे हर रिश्ते को इस कदर,
की आप ना भूल पाएंगे हमें ज़िन्दगी भर...
वक्त बदलता है ज़िन्दगी के साथ,
ज़िन्दगी बदलती है रिश्तों के साथ,
रिश्ते नहीं बदलते अपनों के साथ,
बस अपने बदल जाते हैं वक़्त के साथ...
यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए,
कोई रूठ जाता है फिर मान जाने के लिए,
रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नहीं,
बस दिलों में प्यार चाहिए उसे निभाना के लिए...