Love Shayari 2

मुश्किलों से घिर कर भी कभी आपका साथ ना छोड़ेंगे,
अगर क़यामत भी आएगी किसी मोड़ पे तो उसका रुख मोडेंगे,
यूँ तो हम किसी से कभी भी वादा नहीं किया करते,
पर आपसे किये हुए हर एक वादे को कभी ना तोड़ेंगे...
तेरे नाम को अपने होंटो पे सजाया है मैंने,
तेरी रूह को अपने दिल में बसाया है मैंने,
दुनिया तुम्हें ढूँढते ढूँढते हो जाएगी पागल,
दिल के ऐसे कोने में छुपाया है मैंने...
हम चाहे तो भी भुला नहीं सकते,
तेरी यादों से दामन छुड़ा नहीं सकते,
तेरे बिना जीना एक पल भी नामुमकिन है,
तुम्हें चाहते हैं इतना बता नहीं सकते...
रातों में सुनी है मगर देखि तो नहीं,
एक आह सी है, उनकी तो नहीं,

अपना हुनर तराशा है जिनके हुस्न से,
मेरी इन गज़लों में वही अक्स तो नहीं,

दिल को ये दिलासा है, वो है जमी पे,
ये चाँद उसी दिलदार का साया तो नहीं,

जिस अजनबी ने मुझको तलबगार किया है,
उनसे मेरे रूह का कोई रिश्ता तो नहीं...
तेरे पास में बैठना भी इबादत,
तुझे दूर से देखना भी इबादत,
ना माला ना मंतर, ना पूजा ना सजदा,
तुझे हर घड़ी सोचना भी इबादत...
दिल माँगा था जान दी हमने,
प्यार माँगा था पहचान दी हमने,
वो बोले की एक रोज़ मिल जाओ,
और उम्र सारी कुरबान दी हमने..
आँखों के इशारे समझ नहीं पाते,
होंठो से दिल की बात कह नहीं पाते,
अपनी बेबसी हम किस तरह कहें,
कोई है जिसके बिना हम रह नहीं पाते...
देखो मेरी आँखों में ख्वाब किसके हैं,
देखो मेरे दिल में तूफ़ान किसके हैं,
तुम कहते हो मेरे दिल के रास्ते से कोई नहीं गया,
तो फिर यह पैरों के निशान किसके हैं...
दिल करता है ज़िन्दगी तुझे दे दूँ,
ज़िन्दगी की सारी खुशियाँ तुझे दे दूँ,
दे दे अगर तु मुझे भरोसा अपने साथ का,
तो यकीन मान अपनी साँसे भी तुझे दे दूँ...
शर्म पसंद है हमें आपकी,
मगर इतना भी न शरमाया करो,
ये दीवाना फ़िदा है तुम्हारी नज़रों पर,
हमसे नज़रें तो न चुराया करो...