Krishna Janamashtmi Shayari 2

मंदिर की घंटी, आरती की थाली,
नदी के किनारे सूरज की लाली,
ज़िन्दगी में आए ख़ुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो जन्माष्टमी का त्यौहार...
आओ मिलकर सजाएं नन्दाल को,
आओ मिलकर करें गुणगान उनका,
जो सबको राह दिखाते हैं और सबकी बिगड़ी बनाते हैं,
चलो धूम-धाम से मनाए जन्मदिन उनका...
  ---जन्माष्टमी की शुभकामनाएँ---
दुनिया से हर बाज़ी जीतकर मशहूर हो गए,
इतना मुस्कुराए की आँसू दूर हो गए,
हम कांच थे दुनिया ने हमको फेंक दिया था,
मगर बिहारी जी के चरणों में आए तो कोहिनूर हो गए...
   ---जन्माष्टमी मुबारक हो---
कृष्णा का नाम लो सहारा मिलेगा,
ये जीवन ना तुमको दुबारा मिलेगा..
   ----हैप्पी जन्माष्टमी----
मुरली मनोहर, ब्रज के धरोहर,
वो नंदलाल गोपाला है,
बंसी की धुन पर सब दुःख हरनेवाले,
मुरली मनोहर आने वाले हैं...
----हैप्पी जन्माष्टमी----
माखन चोर नंदकिशोर,
बाँधी जिसने प्रीत की डोर,

हरे कृष्ण हरे मुरारी,
पूजती जिन्हें दुनिया सारी,

आओ उनके गुन गाएँ,
सब मिलके जन्माष्टमी मनाएं...
होता है प्यार क्या दुनिया को जिसने बताया,
दिल के रिश्तों को जिसने प्रेम से सजाया,
आज उस प्यार के देवता का बर्थडे है...
     ---हैप्पी जन्माष्टमी---
जय हो श्री कृष्णा जिनका नाम, गोकुल जिनका धाम,
श्री कृष्णा भगवान को, हम सब का प्रणाम...
    ---शुभ जन्माष्टमी----
     ---जय श्री कृष्णा---
राधा की भक्ति, मुरली की मिठास,
माखन का स्वाद, और गोपियों का प्यार,
इन्हीं सबसे मिलके बनता है,
जन्माष्टमी का ये दिन ख़ास...
गुलाब मोहब्बत का पैगाम नहीं होता,
चाँद चांदनी का प्यार सरे आम नहीं होता,
प्यार होता है मन की निर्मल भावनाओं से,
वरना यूँही राधा कृष्णा का नाम नहीं होता...