Inspirational Shayari 1

कुछ कर के दिखा दिया, की काम बहुत है,
इस जहाँ में जीतने वाले मुकाम बहुत हैं,
मुकम्मल शख्स वही जो दुनिया को बदल डाले,
रोज़ मर मिटने वाले नाम बहुत हैं...
खोकर पाने का मज़ा ही कुछ और है,
रोकर मुस्कुराने का मज़ा ही कुछ और है,
हार तो ज़िन्दगी का हिस्सा है मेरे दोस्त,
हारने के बाद जीतने का मज़ा ही कुछ और है...
ना कर तमन्ना ऐ दिल, तू किसी को पाने की,
बड़ी बेदर्द निगाहें हैं इस ज़माने की,
खुद को बना ले काबिल तू अब इस कदर,
कि रखें लोग तमन्ना सिर्फ तुझी को पाने की...
मंजिले उन्ही को मिलती हैं,
जिनके सपनो में जान होती है,
पंखो से कुछ नहीं होता,
होसलों से उड़ान होती है...
ताश के पत्तों से महल नहीं बनता,
नदी को रोकने से समंदर नहीं बनता, 
बढ़ाते रहो जिंदगी में हर पल,
क्यूंकि एक जीत से कोई सिकंदर नहीं बनता...
जीत निश्चित हो तो,
कायर भी लड़ सकते हैं,
बहादुर वे कहलाते हैं,
जो हार निश्चित हो,
फिर भी मैदान नहीं छोड़ते हैं...
कोशिशों के बावजूद हो जाती है कभी हार,
होके निराश मत बैठना मन को अपने मार,
बड़ते रहना आगे सदा हो जैसा भी मौसम,
पा लेती है मंजिल चींटी भी गिर-गिरके हर बार...
ऐसा नहीं की राह में रहमत नहीं रही,
पैरों को तेरे चलने की आदत नहीं रही,
कश्ती है तो किनारा नहीं है दूर,
अगर तेरे इरादों में बुलंदी बनी रही...
हर जलते दीपक तले अँधेरा होता है,
हर रात के पीछे एक सवेरा होता है,
लोग डर जाते हैं मुसीबत को देखकर,
हर मुसीबत के पीछे सुख का सवेरा होता है...
ज़िन्दगी की असली उड़ान अभी बाकी है,
ज़िन्दगी के कई इम्तेहान अभी बाकी है,
अभी तो नापी है मुट्ठी भर ज़मीं हमने,
अभी तो सारा आसमान बाकी है...