Dua Shayari 7

हँसते दिलों में गम भी है,
मुस्कुराती आँखें कभी नम भी हैं,
दुआ करते हैं आपकी हंसी कभी ना रुके,
क्योंकि आपकी मुस्कुराहट के दीवाने हम भी हैं...
क्या खबर थी तुम अचानक ही जुदा हो जाओगे,
कभी मुझ पर मरते थे किसी और पे फ़िदा हो जाओगे,

एक तुझे ही तो चाहा था अपनी ज़ात से बड़कर,
ये सोचा भी नहीं की मेरे लिए सज़ा हो जाओगे,

मैं नहीं पूछूंगा तुमसे कभी, मुझे छोड़ने का सवाल,
मेरे ये पूछने पर तुम शायद मुझसे खफा हो जाओगे,

मैं तो इसी में खुश हूँ कि तुम खुश हो वरना,
उठा लूं हाथ अगर दुआ के लिए तो तुम अब भी मेरे हो जाओगे...
टूट जाते हैं सभी रिश्ते मगर,
दिल से दिल का राबता अपनी जगह,
दिल को है तुमसे ना मिलने का यकीन,
तुमसे मिलने की दुआ अपनी जगह...
वो लौट आएँगे मेरी ज़िन्दगी में,
जिसका इंतज़ार मुझे आज भी है,
माना वक्त ने की है बेवफाई मुझसे लेकिन,
मेरी दुआओं में असर आज भी है...
वो लौट आएगा मेरी ज़िन्दगी में,
जिसका इंतज़ार मुझे आज भी है,
माना वक़्त ने की है बेवफाई मुझसे,
लेकिन मेरी दुआओं में असर आज भी है...
उनकी राहों में काँटों का साथ ना हो,
उनके हाथों में किसी और का हाथ ना हो,
दुआ मांगते हैं उप्पर वाले से बस इतनी,
दिल टूट जाए ऐसी कोई बात ना हो...
तेरी सभी बातें बार-बार याद करना अच्छा लगता है,
तुम्हें खुद में महसूस करना अच्छा लगता है,
दुआ है बस यही की खुदा आपको हमसे जुदा ना करे,
क्योंकि तेरा साँसों के नज़दीक रहना अच्छा लगता है...
वो ना दिखे तो ये रूह तड़पे,
उसके दीदार को मेरी ये आँखें तरसें,
दिल रोया ये फ़रियाद करके,
रब सलामत रखना उसको जिसकी याद में ये दिल धड़के...
हमें जिसने खुश रहने की अदा दी है,
हर पल जीने की दुआ दी है,
ए खुदा खुश रखना उसे जिसने,
अपने दिल में थोड़ी सी जगह दी है...
यूँ दिल से दिल को जुदा ना कीजिएगा,
ज़रा सोच-समझकर फैलसा कीजिएगा,
अगर जी सकते हो आप मेरे बिना,
तो बेशक मेरी मौत की दुआ कीजिएगा...