Diwali Shayari 2

सफलता कदम चूमती रहे,
ख़ुशी आस पास घूमती रहे,
यश इतना फैले की कस्तूरी शर्मा जाए,
लक्ष्मी की कृपा इतनी हो की बाला-जी भी देखते रह जाएं...
दीयों की रोशनी से आपकी ज़िन्दगी जग मगाए,
पटाकों की गूँज से आपकी ज़िन्दगी खिल जाए,
हो दीवाली आपकी बहुत अच्छी,
और ख़ुशियाँ आपकी ज़िन्दगी में भर जाएं...
हर पल रहे होठों पे हंसी,
ना हो ग़म का कोई नाम,
ज़िन्दगी में भर जाए आपके ख़ुशियाँ,
और दीवाली की हो एक अच्छी शाम...
हर पल रहे होठों पे हंसी,
ना हो ग़म का कोई नाम,
ज़िन्दगी में भर जाए आपके ख़ुशियाँ,
और दीवाली की हो एक अच्छी शाम...
गुल ने भेजा गुलफाम है,
तारों ने भेजा सलाम है,
बधाई हो आपकी दीवाली,
हमारा दिल से बस यही पैगाम है...
दीयों की थाली सजा कर रखना,
घर को नया बनाकर रखना,
लक्ष्मी जी आएंगी द्वार आपके,
आप सारी तैयारी कर के रखना...
अंधेरे को दूर भगाने का वक़्त आ रहा है,
दीयों की रौशनी फैलाने का वक़्त आ रहा है,
हो जाओ सभी तैयार यारों,
दीवाली का त्यौहार आ रहा है...
दीपावली के इस शुभ अवसर पर,
मेरी शुभ कामनाए कबूल कीजिएगा,
ख़ुशी के इस माहौल में,
हमको भी शामिल कीजिएगा...
आज से आपके यहाँ धन की बरसात हो,
माँ लक्ष्मी का वास हो,
संकटों का नाश हो हर दिल पर आपका राज़ हो,
उन्नति का सर पर ताज हो घर में शांति का वास हो...
जब हिन्द की गलियों में तारे चमकते हैं,
जब कभी शहरों में जुगनू नज़र आते हैं,
जब राहों में ख़ुशियों के दीए जलते हैं,
जब कुछ पल के लिए ग़म भी मुस्कुराते हैं,
जो हर मंज़र से निराली है, वही तो अपनी दीवाली है...